अपने अनूठे एवं विस्मयकारी फैसलों से सबको चैंकाने वाले नरेंद्र मोदी एवं भाजपा सरकार ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने की असमंजस्य एवं घनघोर धुंधलकों के बीच रातों रात जिस तरह का आश्चर्यकारी वातावरण निर्मित करके सुबह की भोर में उसका उजाला बिखेरा वह उनके राजनीतिक कौशल का अद्भुत उदाहरण है।

बात अप्रैल 1999 की है. उड़ीसा के कांग्रेसी मुख्यमंत्री गिरिधर गोमांग के एक वोट से वाजपेयी की एनडीए सरकार सदन के शक्ति परीक्षण में शिकस्त खा चुकी थी.

भाजपा में अपनी उपेक्षा से नाराज सुल्तानपुर के सांसद वरुण गांधी आगामी लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

प्रियंका से इतना काहे घबराते हो भाई राहुल से तो तुमको राजनीति सीखने की जरूरत। वे फेल नहीं हुए पास होकर ट्रिपल हुए।

उत्तर प्रदेश की राजनीति के बारे में यह कहा जाता है कि जिसने यहां झंडा गाड़ दिया, उसके लिए दिल्ली की कुर्सी का रास्ता आसान हो जाता है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बहन प्रियंका गांधी वाड्रा को पार्टी महासचिव नियुक्त किया है। उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभार दिया गया है। 47 वर्षीय प्रियंका 1999 से हर लोकसभा चुनाव में प्रचार करती रही हैं।

बीजेपी की विदायक साधना सिंह ने बीएसपी चीफ मायावती के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की है। साधना सिंह ने कहा है कि मायावती ना तो महिला में हैं, ना पुरुष में हैं। 

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की रैली में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल भी शामिल हुए.

लोकसभा चुनाव 2019 की आहट के साथ ही आया राम और गया राम का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी से दो बार के विधायक रहे जेपी सिंह ने पार्टी को छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया है.

आगामी लोकसभा चुनाव के परिप्रेक्ष्य में गठबंधनों की राजनीति के नित-नये रंग उभर रहे हैं। सभी राजनीतिक दल चुनाव परिणामों की संभावनाओं की समीक्षा के पश्चात गलतियों को सुधारते हुए जीत को तलाशने में जुट गये हैं। 

 

 


Powered by Aakar Associates Pvt Ltd