उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम से वापस जा रहे पुलिसकर्मियों पर पथराव में एक कांस्टेबल की मौत हो गई.

पथराव का आरोप निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं पर लगाया जा रहा है. निषाद समाज के लोग आरक्षण की मांग को लेकर आज जनपद में कई जगहों पर धरना प्रदर्शन कर रहे थे. वहीं पुलिस प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को देखते हुए इनके कुछ नेताओं को पहले से ही गिरफ्तार कर ली थी. पथराव की ये घटना नोनहरा थाने के कठवा मोड़ चौकी के पास हुई है.

करीमुद्दीनपुर थाने की पुलिस प्रदर्शनकारियों को समझाने गई थी लेकिन यह लोग समझने के बजाय पुलिसकर्मियों पर ईंट पत्थरों से हमला कर दिया जिसकी जद में आकर तीन चार पुलिसकर्मी घायल हो गए. जिला अस्पताल ले जाते वक्त थाना प्रभारी सुरेश वत्स की मौत हो गई.

इस घटना में मारे गए सुरेश वत्स की पत्नी के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने 40 लाख के मुआवजे का ऐलान किया है. वहीं पत्नी को असाधारण पेंशन और माता-पिता को सरकार 10 लाख रुपये देगी. सीएम योगी ने परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी का भी ऐलान किया है.इसके अलावा सीएम योगी ने डीएम और एसएसपी को असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने और तुरंत गिरफ्तारी का निर्देश दिया है.