एनडीए में हाशिये पर चल रहे हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के नेता और बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी से बुधवार को एनडीए ने नाता तोड़ लिया है।

आज सुबह बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव हम पार्टी के अध्यक्ष मांझी के घर पहुंचे और घंटों दोनों के बीच बातचीत का दौर चला। जिसके बाद मांझी ने एनडीए से नाता तोड़ने का ऐलान कर दिया।

बिहार में तेजी से चल रहे राजनीतिक उठा पटक के बीच जीतन राम मांझी अपने दल बल के साथ बिना समय गंवाए बिहार के "महागठबंधन' में शामिल हो गए हैं।

महागठबंधन में शामिल होने के बाद मीडिया से बात करते हुए आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि मांझी मेरे माता-पिता के पुराने दोस्त हैं और मैं उनका स्वागत करता हूं।

मांझी के इस इस्तीफे के बाद बिहार की राजनीति में बहुत बड़े उलटफेर के संकेत मिल रहे हैं। बुधवार की सुबह से ही बिहार की दो राजनीतिक पार्टी में बड़े फेरबदल की शुरुआत की सुगबुगाहट हो गई थी। सुबह 10 बजे तेजस्वी अपनी पार्टी के नेताओं भोला यादव और भाई वीरेंद्र के साथ मांझी के आवास पर मिलने जा पहुंचे। उसके बाद राबड़ी देवी और लालू के बड़े बेटे और पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव भी मांझी से मिलने उनके आवास पर पहुंचे।

मांझी एनडीए में हो रही उपेक्षा से लगातार नाराज चल रहे थे और उन्होंने कुछ दिनों पहले एनडीए छोड़ने के संकेत भी दिये थे। 'हम' के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने तेजस्वी की तारीफ करते हुए कहा कि तेजस्वी यादव बड़े नेता हैं और मांझी से हुई उनकी मुलाकात का कोई न कोई बड़ा परिणाम सामने आएगा।

Loading...
Go to top